नव वर्ष

नव वर्ष छंद

image

नव लय नव वलय नव निश्चय तय करें।
वलय उत्तम लय निश्चय सब सुखमय करें॥
नव उमंग नव तरंग नव विविध रंग हों।
न दुख से न कष्ट से न जिंदगी से जंग हों॥
रहे नही कोई कमी होवे नाश सकल कमियाँ ।
पाप राह पर चलती नही मिले खोई दुनियाँ ॥

कवि – अमित चन्द्रवंशी

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s